हाईवे और एक्सप्रेस-वे में क्या अंतर होता है?

हाई वे और एक्सप्रेस वे में क्या अंतर होता है? Difference Between Highway And Expressway –  आज हम बात करेंगे हाई-वे और एक्सप्रेस-वे के बारे में की हाई वे और एक्सप्रेस-वे में क्या अंतर होता है और ये कैसे एक दूसरे से अलग है? अगर आप घूमने के शौकीन है तो अपने हाई-वे पर सफर जरूर किया होगा और हो सकता है एक्सप्रेस वे पर भी सफर किया हो लेकिन आप हाई-वे और एक्सप्रेस-वे में क्या अंतर होता है नही जानते होंगे।

हाई-वे Highway – आपको बता दे की हाईवे को हिंदी में राजमार्ग कहा जाता है और शहरों को जोड़ने वाली सड़को को हाई वे कहा जाता है लेकिन हाई-वे का मतलब होता है एक ऐसी रोड जो शानदार तरीके से बनायीं गयी हो और जिस भारी वाहन आसानी से आ और जा सके।
यह अक्सर अन्य सड़कों की तुलना में ज्यादा चौड़े होते हैं और महत्वपूर्ण स्थानों को जोड़ते हैं। बता दे की भारत में हाई-वे में 2 लेन या ज्यादा से ज्यादा 4 लेन ही होते है। भारत में अभी लगभग 400 नेशनल हाई-वे है और जिस पर स्पीड लिमिट 100 किलो मीटर प्रति घंटा है.

हाईवे और एक्सप्रेस वे में क्या अंतर होता है?
हाई वे और एक्सप्रेस वे में क्या अंतर होता है?

एक्सप्रेस वे Expressway – एक्सप्रेस वे भारतीय सड़कों की सबसे हाई लेवल की सड़के होती है और ये गाड़ियों को तेज रफ़्तार से चलाने के लिए बनाये जाते है, हाई-वे और एक्सप्रेस-वे में अंतर इतना होता है कि जब हाई-वे को कई सुविधाओं से लैस कर दिया जाता है तो  वो एक्सप्रेस वे हो जाता है। बता दे की एक्सप्रेस वे पर 6 से 8 लेन होते है जो शानदार तरीकों से बनाये जाते है देश में अभी लगभग 50 एक्सप्रेस वे है जिन पर 120 किलो मीटर प्रति घंटा की स्पीड से वाहन चलाये जा सकते है, आगरा लुखनऊ एक्सप्रेस वे भारत का सबसे बड़ा एक्सप्रेस-वे है।

हाईवे और एक्सप्रेस-वे में क्या अंतर हिंदी में।

◆ हाई-वे पर बड़े चारपहिया वाहनों की मैक्सिमम स्पीड लिमिट 100 किमी प्रति घंटा होती है और जो छोटे वाहन व दोपहिया वाहन की स्पीड 80 किमी प्रति घंटा होती है। जबकि एक्सप्रेस-वे पर मैक्सिमम स्पीड लिमिट 120 किमी प्रति घंटे की होती है।

◆ इसके अलावा हाईवे पर दोपहिया वाहन को चलने की छूट होती है, जबकि एक्सप्रेस-वे पर दोपहिया वाहनों को परमिशन नहीं होती।

◆ इसके अलावा जो एक्सप्रेस-वे होते है उनमें कोई भी सामान्य सड़क नहीं मिलाया जाता है, जब एक्सप्रेस-वे पर कोई सड़क मिलाई जाती है तो वहीं पर टोल बूथ लगा दिया जाता है। जबकि हाईवे में किसी सड़क को या कालोनी की सड़क का लिंक कर दिया जाता है।

तो अब आपको अंदाज़ा लग गया होगा की हाई-वे और एक्सप्रेस-वे में क्या अंतर होता है उम्मीद है आपको ये जानकारी पसंद आएगी। आपको ये जानकारी कैसी लगी कमेंट करके जरूर बताये।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here