MRI और CT Scan इतने महंगे क्यों होते हैं?

एमआरआई और सीटी स्कैन इतने महंगे क्यों होते हैं? Why MRIs Are So Expensive – नमस्कार दोस्तों, आज इस अर्टिकल में हम जानेंगे की MRI और CT Scan (एमआरआई और सीटी स्कैन) इतने महंगे क्यों होती है। अक्सर डॉक्टर मरीज को एमआरआई और सीटी स्कैन करवाने के लिए कहते है। लेकिन जब आप लेब में MRI और CT Scan करवाने जाते है और इसके चार्जस के बारे में पता करेंगे तो आप पाएंगे कि एमआरआई और सीटी स्कैन  जैसी जाँच बहुत महंगी होती है और किसी गरीब के लिए तो एमआरआई और सीटी स्कैन  करना बहुत मुश्किल होता है। लेकिन सवाल यही आता है कि MRI और CT Scan (एमआरआई और सीटी स्कैन) जैसे जांचे इतनी महंगी क्यों होती है? Why MRIs Are So Expensive in Hind

MRI और CT Scan इतने महंगे क्यों होते हैं?बाजार में MRI करीब 5000 हज़ार रूपए से शुरू होती है हलाकि की ये अलग अलग जगह की MRI (एम आर आई) के चार्जस अलग-अलग होते है। इसी तरह CT Scan भी मंहगा होता है। CT Scan का चार्ज 1500 से 3500 के बीच हो सकता है।

MRI FULL FORM : MRI का Full Form होता है ”Magnetic Resonance imaging” एम आर आई का फुल फॉर्म होता है मैग्नेटिक रेजोनेंस इमेजिंग।

CT Scan Full Form : CT Scan का Full Form होता है ”Computed Tomography Scan” (कंप्यूटेड टोमोग्राफी स्कैन)

एमआरआई और सीटी स्कैन महंगे क्यों होते? MRI Aur CT Scan Mahange Kyun Hote? Why MRIs & CT Scan Are So Expensive

एमआरआई और सीटी स्कैन महंगे होते है और इसका एक बड़ा कारण ये है कि MRI और CT Scan करने वाली मशीन बहुत महंगी आती है। इसके अलावा टैक्नीशियन की सैलरी भी किसी अन्य टैक्नीशियन से ज्यादा होती है।

जानकारी के लिए बता दे की CT Scan की एक सेकंड हैंड मशीन भी कई करोड़ की आती है और उसका मेंटेनेंस व ऑपरेशनल कॉस्ट भी काफी ज्यादा होती है।

ऐसा ही एमआरआई के साथ है। इसकी मशीन करोड़ों की आती है, साथ ही इनकी ऑपरेशनल कॉस्ट भी काफी ज़्यादा होती है। तो इस वजह से MRI और CT Scan (एम आर आई और सीटी स्कैन) महंगे होते है।

गरीब मरीज मुफ्त में या सस्ते दरों पर MRI और CT Scan कैसे कराये?

◆ गरीब मरीज सरकारी अस्पताल में जाकर ये जाँच करवा सकते है। यहाँ पर ये फ्री में भी जाती है और इनकी फीस भी लगती है तो वो बहुत कम होती है। सरकारी अस्पताल में फ्री में एमआरआई और सीटी स्कैन करवाने के लिए आपके गरीबी रेखा का कार्ड होना जरूरी होता है।

◆ इसके अलावा चेरिटेबल डायग्नॉस्टिक सेंटर होते हैं जिन्हें यह मशीन भी सस्ते दामों पर मिल जाती है, साथ ही वहां काम करने वाला स्टाफ़ भी कई बार चैरिटी करने के लिए आता है कम समय के लिए, तो ऑपरेशनल कॉस्ट कम हो जाती है। इसके साथ ही ये किसी चेरिटेबल ट्रस्ट से जुड़ी लैब होती है तो इन्हें टैक्स इत्यादि में भी छूट मिलती है।

तो अब आपको अच्छे से समझ आ गया होगा की एमआरआई और सीटी स्कैन जैसी जाँच इतनी महँगी क्यों होती है और गरीब मरीज सस्ते दरों में MRI और CT Scan कैसे करवा सकते है। तो आशा करते है आपको यह जानकारी पसंद आयी होगी, धन्यवाद….

—–देखिए वीडियो—–

ये भी पढ़े – 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here